Ashrams

भारत के विभिन्न प्रदेशों में मानव सेवा संघ के आश्रम-

 
[accordions]
[accordion title=”१. मानव सेवा संघ-वृन्दावन“]

यह आश्रम ब्रजक्षेत्र के प्रमुख तीर्थ स्थल, बालकृष्ण की क्रीडा-भूमि श्री वृन्दावन धाम में मथुरा वृन्दावन रोड पर स्थित है। इस आश्रम की स्थापना २६ फरवरी, १९५२ को ब्रह्मलीन पूज्यपाद श्री स्वामी शरणानन्दजी महाराज द्वारा हुई। यह मानव सेवा संघ (पंजीकृत संस्था) का मुख्यालय एवं मानव सेवा संघ की नानाविधि सेवा-प्रवृत्तियों एवं बहुआयामी गतिविधियों का केन्द्र है।

यहाँ नित्य-प्रति प्रातः एवं सायं सत्संग की बैठकें होती हैं। प्रत्येक एकादशी को प्रातः ८ से ९ तक सत्संग की एक और बैठक होती है। प्रतिवर्ष होली पर यहाँ मानव सेवा संघ का वार्षिक अधिवेशन होता है। श्रावणी एवं दीपावली पर विशेष सत्संग समारोह होते हैं। वार्षिक अधिवेशन में भाग लेने के लिए सभी गणमान्य सदस्य एवं भारत के अनेक प्रदेशों में फैली मानव सेवा संघ की शाखाओं के प्रतिनिधि एवं कार्यकर्ता एवं सभी आश्रमों के पदाधिकारी आकर सक्रिय सहयोग प्रदान करते हैं।

इस आश्रम के निम्नलिखित सेवा-प्रवृत्तियाँ संचालित हैं –-

  • साधक-सेवा
  • चिकित्सा-सेवा
  • अन्न क्षेत्र (सदाव्रत-सेवा)
  • गौ-सेवा
  • शीतल जल-सेवा
  • वृक्ष-सेवा

मानव सेवा संघ आश्रम, केन्द्रीय कार्यालय, वृन्दावन (मथुरा) उत्तर प्रदेश

[/accordion]
[accordion title=”२. निर्माण निकेतन आश्रम-राँची“]

यह आश्रम झारखण्ड प्रदेश में राँची नगर से १३ किमी० दूर उत्तर-पूर्व दिशा में ग्राम एवं पोस्ट बोडिया में स्थित है। इस आश्रम की स्थापना ६ फरवरी, १९५६ को हुई थी। यह आश्रम प्राकृतिक शोभायुक्त सुहावने वातावरण में है, जहाँ साधक मूक सत्संग तथा शान्ति सम्पादन कर साधन का निर्माण कर सकते हैं। इस आश्रम में सुरम्य उद्यान हैं जिसमे अनेक फलदार वृक्ष लगे हुए हैं। यहाँ प्रतिदिन सत्संग की बैठक होती है तथा विद्या‌‍र्थियों को सेवा सहायता प्रदान की जाती है। यहाँ एक गौशाला भी है।

मानव सेवा संघ, निर्माण निकेतन आश्रम, ग्राम एवं पोस्ट- बोडिया, जिला- राँची, झारखण्ड

[/accordion]
[accordion title=”३. निवारणपुर आश्रम-राँची“]

मानव सेवा संघ के कार्यकर्ताओं, प्रेमियों तथा राँची के निवासियों के प्रयास से राँची शहर में तपोभूमि श्री राम मन्दिर के पास यह आश्रम स्थित है। यहाँ की जमीं बहुत उपजाऊ है। साधकों के निवास हेतु पर्याप्त स्थान है तथा उपयोगी उद्यान है।

मानव सेवा संघ, निवारणपुर आश्रम, पोस्ट- हिनू, जिला- राँची, झारखण्ड

[/accordion]
[accordion title=”४. आरोग्य आश्रम-गाजीपुर“]

सन् १९५० में स्थापित इस आश्रम में एक नेत्र-चिकित्सालय सेवारत है, जो अत्याधुनिक उपकरणों से सुसज्जित है। इस आश्रम में एक शल्य चिकित्सालय तथा एक बाह्य रोगी विभाग भी सेवारत है। चिकित्सालय में प्रतिवर्ष अक्टूबर से मार्च तक अनेक नेत्र-शिविरों का आयोजन किया जाता है जिनमें वाराणसी के ख्यति-प्राप्त शल्य-चिकित्सक अपनी सेवाएँ प्रदान करते हैं। इस चिकित्सालय की इकाई के रूप में एक नेत्र संग्रह केन्द्र (Corneal Transplant Centre) भी स्थापित किया गया है।

मानव सेवा संघ, आरोग्य आश्रम, गोरा बाजार, गाजीपुर, पिन-२३३००१, उत्तर प्रदेश

[/accordion]

[accordion title=”५. जागृति आश्रम-बिठूर“]
महर्षि वाल्मीकि की तपस्थली, बिठूर में पुण्यसलिला भागीरथी के तट के समीप यह आश्रम स्थित है। इसमें साधकों के निवास के लिए कुछ कुटियाँ बनी हुई हैं। एक बड़ा सत्संग हॉल भी बना हुआ है। इस आश्रम में सत्संग योजना के साथ-साथ रोगी-सेवा, वृक्ष-सेवा एवं अन्य सेवा-प्रवृत्तियाँ भी संचालित हैं।
मानव सेवा संघ, जागृति आश्रम, बिठूर, जिला-कानपुर देहात, पिन-२०९२०१, उत्तर प्रदेश
[/accordion]
[accordion title=”६. प्रेम निकेतन आश्रम-जयपुर“]
सन् १९५७ में स्थापित यह आश्रम जयपुर शहर से लगभग १० किमी० दूर दुर्गापुरा बस्ती के पास स्थित है। यहाँ प्रतिदिन प्रातः और सायं सत्संग की बैठकें नियमित रुप से होती हैं। इनके अतिरिक्त प्रत्येक रविवार और प्रत्येक एकादशी को सत्संग की विशेष बैठक प्रातः ८ से ९ तक होती है।
प्रेम निकेतन आश्रम द्वारा संचालित सेवा-प्रवृत्तियों का विस्तृत विवरण निम्न प्रकार है –

  • प्रेम निकेतन आश्रम (साधक आश्रम)

इस आश्रम में लगभग २५ साधक निवास करते हैं। प्रातः तथा सायंकाल सत्संग एवं विचार विनिमय होता है तथा समय-समय पर विभिन्न आध्यात्मिक कार्यक्रमों का आयोजन किया जाता है।

  • प्रेम निकेतन गौशाला
  • प्रेम निकेतन स्कूल (बाल मन्दिर)
  • प्रेम निकेतन अस्पताल
  • शुभ-शान्ति निवास (वरिष्ठ नागरिक आवास)
  • जैरियाट्रिक-कम-नर्सिंग केयर सेन्टर 

SOUTH EAST ASIA INSTITUTE FOR THALASSEMIA, JAIPUR

SEAITSouth East Asia Institute for Thalassemia (SEAIT) is a joint collaboration of Manav Sewa Sangh, Prem Niketan Hospital, Jaipur, India and Cure 2 Children Foundation, Florence, Italy, for the screening, detection and diagnosis of Thalassemia and blood disorders including blood cancer. SEAIT is a centre committed to the cure of children with severe blood disorders in particular, transfusion dependent Thalassemia by bone marrow transplantation.

http://www.seaitindia.org/

मानव सेवा संघ, प्रेम निकेतन आश्रम, पोस्ट-दुर्गापुरा, जयपुर, पिन-३०२०१८, राजस्थान

[/accordion]

[/accordions]